Click_for_PPT_submission_sites_list_2017 Click_for_social_bookmarking_sites_list_2017
2
किसी भी शुभ कार्य से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है, इसलिए इन्हें प्रथम पूज्य भी कहा जाता है। भगवान गणेश सभी संकटों को टालने वाले तथा सुख-समृद्धि प्रदान करने वाले हैं। ये भक्त की हर परेशानी का हल कर देते हैं। तंत्र शास्त्र के अंतर्गत पारद गणपति की पूजा करने का विधान है। पारद गणेश की पूजा करने से शीघ्र ही सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। बुधवार को भगवान गणेश का दिन माना गया है अत: इसी दिन पारद गणेश की स्थापना करना श्रेष्ठ होता है। जहां भी पारद गणेश का पूजन होता है वहां हमेशा सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है। पारद गणेश के पूजन के बारे में कुछ विशेष बातें- – पारद गणेश की स्थापना से आने वाले संकटों से छुटकारा मिलता है। – पारद गणेश की स्थापना से रिद्धि-सिद्धि यानी धन व बुद्धि दोनों की प्राप्ति होती है। – बुधवार के दिन पारद गणपति को अपनी दुकान या गोदाम में स्थापित करने से धन में हमेशा वृद्धि होती रहती है। – पारद गणपति की रोज पूजा करने से गरीबी दूर होती है। – विद्यार्थी अगर रोज पारद गणपति की पूजा करें को उनको निश्चित ही फायदा होता है पारद गणपति पर 11 दिन तक प्रतिदिन 11 फूल चढ़ाएं तथा ऊँ गं गणपतयै नम: की एक माला मंत्र जप करें तो सभी मुश्किलें दूर हो जाती हैं और दरिद्रता समाप्त हो जाती हैं। – जो व्यक्ति प्रति बुधवार को पारद गणेश की मूर्ति पर गुलाब का फूल चढ़ाकर ऊँ ह्रीं श्रीं गं गणपतयै नम: मंत्र की एक माला मंत्र जप करता है उसकी हर काम में विजय होती है।

Comments

Who Upvoted this Story